Thursday - 2 February 2023 - 7:50 PM

क्रूज ड्रग केस: गवाह के वसूली वाले आरोपों के बाद समीर वानखेड़े की मुश्किलें बढ़ी

जुबिली न्यूज डेस्क

आर्यन खान ड्रग्स मामले में नया मोड़ आ गया है। जहां इस मामले में एक एक स्वतंत्र गवाह प्रभाकर साईल ने सोमवार को मुंबई के पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले से मुलाकात की तो वहीं प्रभाकर के वसूली वाले आरोपों में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो यानी एनसीबी रिश्वत के आरोप में समीर वानखेड़े के खिलाफ विजिलेंस जांच शुरू करेगा।

एनसीबी के डीजी ज्ञानेश्वर सिंह के अनुसार, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के खिलाफ सतर्कता जांच का आदेश दिया है।

वानखेड़े पर लगे रिश्वत के आरोप पर डीडीजी एनसीबी ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा, ‘डीडीजी एसडब्ल्यूआर से एक रिपोर्ट हमारे डीजी को प्राप्त हुई थी, उन्होंने विजिलेंस सेक्शन को एक जांच के लिए चिह्नित किया है… मुख्य सतर्कता अधिकारी उचित रूप से जांच से निपटेंगे …जांच अभी शुरू हुई है, किसी भी अधिकारी पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।’

प्रभाकर साइल ने रविवार को मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने वानखेड़े पर 8 करोड़ रुपये की वसूली के आरोप लगाए हैं। हांलाकि वानखेड़े ने इन सभी आरोपों का खंडन कर दिया था।

प्रभाकर ने अपने हलफनामे में एनसीबी पर फिरौती मांगने का गंभीर आरोप लगाया था। इसके बाद प्रभाकर ने मीडिया से बातचीत में अपने आरोप दोहराए थे और ख़ुद के लिए सुरक्षा की मांग भी की थी।

इस सबके बीच अदालत में इस केस से संबंधित दो हलफनामे दायर किए गए हैं। एक हलफनामा जहां एनसीबी की ओर से है, वहीं दूसरा वानखेड़े की ओर से दायर किया गया है।

एनडीपीएस कोर्ट में एनसीबी द्वारा दायर एक जवाबी हलफनामे में एजेंसी ने कहा है कि गवाह मुकर गया है। विशेष एनडीपीएस अदालत के समक्ष पेश हुए एनसीबी के अफसर समीर वानखेड़े ने न्यायाधीश से कहा कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है और वह जांच के लिए तैयार हैं।

समीर वानखेड़े ने अपने हलफनामे में कोर्ट से उन्हें धमकी देने और जांच में बाधा डालने के प्रयासों का संज्ञान लेने का अनुरोध किया गया है, वहीं दूसरी ओर एनसीबी के हलफनामे में गवाह के मुकर जाने और जांच में छेड़छाड़ के लिए कुछ लोगों द्वारा प्रभाव का इस्तेमाल किए जाने की बात कही गई है।

मुंबई पुलिस कमिश्नर से मिले प्रभाकर

सोमवार को वे मुंबई पुलिस कमिश्नर से मिले हैं और संभवत इस विषय पर और जानकारी साझा की है। अब ऐसे कय़ास लगाए जा रहे हैं कि मुंबई पुलिस प्रभाकर के लगाए भ्रष्टाचार के आरोपों जांच कर सकती है।

अब सबकी निगाहें प्रभाकर साईल के आरोपों पर महाराष्ट्र सरकार की आगे की कार्रवाई पर टिकी हैं। इसी बीच शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने एक ट्वीट में कहा है कि – वेट ऐंड वॉच

झूठे केस में फंसाने की कोशिश – समीर वानखेड़े

वहीं अपने ऊपर लगे आरोपों पर एनसीबी के मुंबई डिवीजन के निदेशक समीर वानखेड़े ने कल मुंबई के पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले को एक पत्र लिखा था।

पत्र में वानखेड़े ने कहा, “मुझे शक है कि कुछ लोगों ने मुझे फर्जी मामले में फंसाने की कोशिश शुरू कर दी है।”

वानखेड़े ने कहा, “जो आरोप लगाए गए हैं उन पर, मेरे वरिष्ठ अधिकारी मुथा अशोक जैन ने पहले ही एनसीबी के महानिदेशक को कार्रवाई करने के लिए पत्र लिख दिया है। मैं आपके संज्ञान में ये बात लाना चाहता हूं कि मुझे मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक पदों पर बैठे लोग, नौकरी से निकालने और जेल में डालने जैसी धमकियां दे चुके हैं। “

मालूम हो कि रविवार को प्रभाकर साइल नाम के एक स्वतंत्र गवाह के आरोप से क्रूज ड्रग्स मामले ने नया मोड़ ले लिया। प्रभाकर ने दावा किया आर्यन को तीन अक्टूबर को एनसीबी कार्यालय लाने के बाद उन्होंने गोसावी को फोन पर डिसूजा नामक एक व्यक्ति को 25 करोड़ रुपये की मांग और मामला 18 करोड़ पर तय करने के बारे में बात करते हुए सुना था, क्योंकि उन्हें ‘आठ करोड़ रुपये समीर वानखेड़े (एनसीबी के जोनल निदेशक)को देने थे।’

साईल ने मीडिया से कहा कि एनसीबी अधिकारियों ने उनसे 10 कोरे कागजों पर हस्ताक्षर करने के लिए भी कहा।

क्या था मामला

एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे के नेतृत्व में अक्टूबर की शुरुआत में एजेंसी ने क्रूज पोत पर ‘नशे’ का भंडाफोड़ किया था, जिसमें तीन अक्टूबर को शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार किया था।

इस समय आर्यन खान मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद हैं। आर्यन की जमानत अर्जी पर बॉम्बे हाई कोर्ट में संभवत: 26 अक्टूबर को सुनवाई होगी।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com