कोरोना से राहत के संकेत, लेकिन न बरतें लापरवाही

जुबिली न्‍यूज डेस्‍क 

 अप्रैल में बेतहाशा तेजी के बाद अब कोरोना संक्रमण के कदम थमने के शुरुआती संकेत मिलने लगे हैं। दिल्ली, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश समेत कुछ राज्यों में दैनिक संक्रमण के मामलों में या तो गिरावट दिख रही है या फिर इनमें स्थिरता आ गई है।

देश में कोरोना के कहर से राहत मिलने के संकेत दिखाई पड़ने लगे हैं। बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना के 3,57,229 नए केस सामने आए हैं। हालांकि इस दौरान 3,20,289 लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं जबकि 3,449 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

संक्रमण थमने के शुरुआती संकेत की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि 21 अप्रैल को नए मामलों की तुलना में सिर्फ 57 फीसद मरीज ठीक हुए थे, लेकिन तीन मई को ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 82 फीसद हो गई है। हालांकि अभी लहर थमने को लेकर आश्वस्त नहीं हुआ जा सकता है। इसलिए सतर्कता बहुत जरूरी है।

हालांकि अभी पूरी तरह आश्र्वस्त नहीं हुआ जा सकता है। कई राज्यों में संक्रमण के नए मामलों की तेजी अब भी चिंता का कारण बनी हुई है। लव अग्रवाल ने कहा कि बिहार, हरियाणा, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, असम, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक और केरल जैसे राज्यों में केस में बढ़ोतरी जारी है। स्वास्थ्य मंत्रालय इसे रोकने के लिए इन राज्यों के संपर्क में है।

बता दें कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर इतनी ज्यादा जानलेवा हो चुकी है कि पिछले 14 दिन के अंदर 185 प्रतिशत मौतें बढ़ गईं। न्यूयॉर्क टाइम्स के कोविड ट्रैकर के मुताबिक, इस वक्त देश में हर दिन औसतन 3417 मौतें हो रही हैं जबकि चार सप्ताह पहले यहां हर दिन 787 मौतें हो रही थीं। सात दिन के औसत आंकड़ों के आधार पर 14 दिन के बदलाव की गणना की जाती है जिसे संक्रमण की सटीक स्थिति का प्रामाणिक आंकड़ा माना जाता है।

ये भी पढ़ें: OMG ! मोनालिसा बीच सड़क पर ये क्या कर रही है , Video देखना लेकिन संभल कर

भारत में दूसरी लहर के कहर को लेकर लगाए गए वैज्ञानिक अनुमान भी सटीक स्थिति का पता नहीं लगा पा रहे हैं। अप्रैल मध्य में लांसेट पत्रिका में प्रकाशित हुए अध्ययन में दावा किया गया था कि जून के पहले सप्ताह में जाकर हर दिन यहां ढाई हजार से ज्यादा मरीजों की मौत होगी। जबकि 27 अप्रैल को ही भारत में रोजाना होने वाली मौतों का आंकड़ा तीन हजार के पार हो गया था।

न्यूयॉर्क टाइम्स के कोविड ट्रैकर के मुताबिक, भारत में पिछले 14 दिनों में 82 प्रतिशत संक्रमण के नए केस बढ़ गए हैं। चार सप्ताह पहले भारत में औसतन 1,43,343 नए मरीज मिल रहे थे, जबकि अब हर दिन 3,68,647 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हो रही है।

ये भी पढ़ें: CM योगी का फैसला- स्वास्थ्य कर्मियों को मिलेगा 25% अतिरिक्त मानदेय

इस वक्त देश में जितनी कोरोना जांचें हो रही हैं, उसमें से 21.2 प्रतिशत नमूनों में कोरोना जांचों की पुष्टि हो रही है। देश में कोरोना की दूसरी लहर 15 फरवरी के बाद शुरू हुई, उस तारीख तक जांच पॉजिटिविटी दर मात्र 1.60 प्रतिशत थी। हालात के अत्यधिक खराब होने का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक के हिसाब से यह दर अधिकतम 10 प्रतिशत ही रहनी चाहिए।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com