Wednesday - 8 July 2020 - 7:02 AM

तालाबंदी ने बढ़ाया महिलाओं का मोटापा

जुबिली न्यूज़ डेस्क 

दुनिया भर में कोरोना वायरस अभी भी तेजी से फैल रहा है। पूरी दुनिया में संक्रमित लोगों की संख्‍या एक करोड़ के करीब पहुंच चुकी है। वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरी दुनिया के डॉक्टर और रिसर्चर वैक्सीन की खोज में जुटे हुए हैं,  लेकिन उन्हें अभी पूरी तरह सफलता नहीं मिली है। हम महामारी के दूसरे चरण में प्रवेश कर चुके हैं, जो बेहद चिंताजनक है।

कोरोना वायरस के वजह से लोगों का जीवन प्रभावित तो हुआ ही है साथ ही लॉकडाउन के चलते भी जीवन शैली बदल गई है, जिसके दूसरे साइड इफेक्ट सामने आया है।

Weight Loss: महिलाओं के लिए वजन घटाने के ...

ये भी पढ़े : मानवाधिकार के मर्म और दर्शन के पुरोधा थे चितरंजन सिंह

दरअसल, दुनिया भर के अधिकांश प्रभावित देशों ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन लागू किया था। इससे लाइफस्टाइल और दिनचर्या में बदलाव होने के कारण कई दुष्प्रभाव सामने आए। लॉकडाउन के कारण लोगों में मोटापा तेजी से बढ़ रहा है।

WebMD द्वारा किए गए एक पोल के अनुसार, लॉकडाउन में लगे प्रतिबंध के कारण अमेरिकियों में बड़ी तादाद में मोटापा बढ़ रहा है। लोग अपने घरों में बंद होकर रह गए हैं जिससे उनकी रोजमर्रा की हेल्दी रूटीन प्रभावित हुई है। इनमें से कईयों का वजन बहुत तेजी से बढ़ रहा है। स्टडी में यह भी पाया गया कि 22 प्रतिशत पुरुष जबकि 47 प्रतिशत महिलाओं के वजन में इजाफा हुआ है।

Weight Loss Tips: 5 Minute Tummy And Fat Reducing Exercise For ...

ये भी पढ़े : देश में पांच लाख के पार हुई कोरोना मामलों की संख्या

जब वालंटियर्स से यह सवाल पूछा गया तो 60 प्रतिशत लोगों ने बढ़ते तनाव और खराब लाइफस्टाइल को मोटापे के लिए जिम्मेदार ठहराया। जबकि 21 प्रतिशत लोगों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान अधिक शराब के सेवन से उनका वजन तेजी से बढ़ रहा है।

लॉकडाउन के दौरान अधिकांश लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। ऐसे में वो अपने तनाव को दूर करने और मूड को रिफ्रेश करने के लिए अधिकतर पैकेट बंद फूड खाते हैं। इसके अलावा कोरोना वायरस महामारी के कारण लोग घरों में बंद हो गए हैं। जिसके कारण वे न तो एक्सरसाइज कर पा रहे हैं और ना ही स्वस्थ भोजन पर ध्यान दे रहे हैं। यही वजह है कि लॉकडाउन के दौरान लोगों का वजन तेजी से बढ़ रहा है।

Weight loss and Fat Burner products for women under 500 rs

स्टडी के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान 75 प्रतिशत लोगों का वजन 0.4 से 4 किलो तक बढ़ा है। जबकि 21 प्रतिशत लोगों का मानना है कि उनका वजन 5 से 8 किलो तक बढ़ गया है। इसके अलावा 4 प्रतिशत लोगों का यह कहना है कि क्वारंटीन पीरियड के दौरान उनका वजन लगभग 10 किलो बढ़ गया।

इस तरह पूरी दुनिया में लॉकडाउन के कारण लोगों में मोटापे की समस्या तेजी से बढ़ रही है। इससे बचने के लिए लाइफस्टाइल को सुधारना बेहद जरूरी है।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com