Tuesday - 26 January 2021 - 1:32 AM

कोरोना का कहर: स्टडी में हुआ बच्चों को लेकर ये खुलासा

जुबिली न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर जहां एक तरफ पूरे देश में डर का माहौल है वहीं एक शोध में पता चला है कि वयस्कों की तुलना में उपन्यास कोरोना वायरस रोग (Covid -19) के प्रति बच्चों की एक अलग प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया होती है।

दरअसल विशेषज्ञों ने पाया कि प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार सामान्य सर्दी के संक्रमण के दौरान एक प्रकार के एंटीबॉडी विकसित करता है जो उन्हें रोग के खिलाफ सुरक्षा की डिग्री दे सकता है। उन्होंने 300 से अधिक वयस्कों और 48 बच्चों के रक्त के नमूनों का आकलन किया और इसकी तुलना उन 170 लोगों के नमूनों से की, जो वायरल बीमारी से संक्रमित हैं।

ये भी पढ़े: लव जिहाद पर कानून बनाएगी शिवराज सरकार, कड़ी सजा का होगा प्रावधान

ये भी पढ़े: फेसबुक ने कमला हैरिस के खिलाफ नस्लभेदी और सेक्सुअल पोस्ट को हटाया

निष्कर्षों से पता चला कि कई बच्चों ने एक विशेष प्रकार के एंटीबॉडी को चलाया जो उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कोविड -19 संक्रमण को रोकने में मदद कर रहे हैं।

ये भी पढ़े: बिहार सरकार में पहली बार मुसलमानों की नुमाइंदगी नहीं, विपक्ष को मिला मुद्दा

ये भी पढ़े: अमित शाह बोले- ‘गुपकार गैंग’ पर क्‍या है कांग्रेस का स्‍टैंड

शोध में सामने आया कि 43 फीसदी बच्चों की तुलना में केवल पांच फीसदी वयस्कों में ही ये एंटीबॉडीज होती हैं। इसका नेतृत्व जॉर्ज कैसियोटिस द्वारा किया जा रहा है, जो फ्रांसिस क्रिक इंस्टीट्यूट में रेट्रोवायरल इम्यूनोलॉजी प्रयोगशाला का नेतृत्व करता है।

आपको बता दें कि भारत में कोरोना संक्रमण के एक दिन में सामने आने वाले नए मामलों की संख्या चार महीने बाद 30,000 से नीचे रही और साथ ही भारत में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 88.74 लाख पार हो गई है, हालांकि इनमें से स्वस्थ हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 82,90,370 हो गई।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में ये जानकारी दी गई। इससे पहले संक्रमण के एक दिन में सामने आए नए मामलों की संख्या 15 जुलाई को 30,000 से नीचे रही थी। उस समय नए मामलों की संख्या 29,429 दर्ज की गई थी।

आंकड़ों के अनुसार देश में लगातार सातवें दिन उपचाराधीन संक्रमित लोगों की संख्या पांच लाख से नीचे रही। देश में कोरोना संक्रमण के उपचाराधीन मामले 4,53,401 हैं जो कि संक्रमण के कुल मामलों का 5.11 प्रतिशत है।

ये भी पढ़े: दुनिया के सबसे महंगे कबूतर की कीमत जानते हैं आप

ये भी पढ़े: बिहार में इन चुनौतियों से कैसे निपटेगी बीजेपी

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com