Friday - 22 January 2021 - 8:32 PM

कैसे पुलिस के शिकंजे में आया छात्रवृत्ति घोटाले का आरोपी कैशियर

जुबिली न्यूज़ डेस्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बलिया में 75 लाख रुपए छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी जिला सहकारी बैंक के कैशियर को गिरफ्तार कर लिया है। ईओडब्ल्यू वाराणसी शाखा के निरीक्षक शिवाकांत तिवारी के मुताबिक जिला सहकारी बैंक भरौली में तैनात कैशियर हीरामन ने बैंक के ऊभांव शाखा में तैनाती के दौरान बच्चों की छात्रवृत्ति में 75 लाख रुपए का गबन किया था।

कैशियर के खिलाफ 2015 में बैंक के मुख्य सचिव पी. एन. राय द्वारा ऊभांव थाना में गबन का मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मुकदमे में कैशियर के बेटे और दो अन्य को भी आरोपी बनाया गया था।

ये भी पढ़े: एनडीए उम्‍मीदवार विजय सिन्‍हा बने बिहार विधानसभा के स्‍पीकर

ये भी पढ़े: महंगे पेट्रोल- डीजल के लिए कस ले कमर क्योंकि…

पुलिस के मुताबिक हीरामन को देर रात नरही थाना क्षेत्र में जिला सहकारी बैंक शाखा भरौली से गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार बैंक कैशियर द्वारा अपने बेटे व दो अन्य लोगों के खातों में छात्रवृत्ति का रुपया ट्रांसफर कर गबन किया गया है। निरीक्षक ने बताया कि इस मामले में कैशियर का बेटा जेल जाकर जमानत पर बाहर है। एक आरोपी हंसनाथ यादव अभी भी जेल में है।

ये भी पढ़े: ऐसा करने वाली तीसरी यूनिवर्सिटी बनेगा लखनऊ विश्विद्यालय

ये भी पढ़े: इन मुद्दों को लेकर हड़ताल पर जाएंगे बैंक कर्मचारी

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com