Saturday - 3 December 2022 - 5:11 PM

मैनपुरी सीट जीतने के लिए सहयोगी दलों की मदद लेगी बीजेपी !

  • बीजेपी ने मैनपुरी में मंत्रियों, सांसद और विधायकों की फ़ौज तैनात की
     

राजेंद्र कुमार

लखनऊ. समाजवादी पार्टी का अभेद दुर्ग बनी चुकी मैनपुरी लोकसभा सीट को अपने पाले में लाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ( बीजेपी) ने चुनावी योद्धा तैनात कर दिए हैं.

पार्टी ने इस सीट को जीतने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के मंत्रियों के साथ सांसदों-विधायकों की फौज तैनात कर दी है. यहीं नहीं मैनपुरी सीट को जीतने की चाहत में बीजेपी ने अपने सहयोगी अपना दल (सोनेलाल) और निषाद पार्टी की भी मदद लेने का फैसला किया है.

यूपी के विधानसभा चुनावों के बाद बीजेपी पहली बार अपने सहयोगी दलों के नेताओं की चुनावी सभाएं मैनपुरी में कराएंगी. मैनपुरी में लोकसभा का उप चुनाव पांच दिसंबर को होना है और आठ दिसंबर को मतगणना होगी.

वास्तव में जिस प्रकार सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए मैनपुरी का लोकसभा चुनाव करो या मरो की तरह है और यह उनके नेतृत्व की परीक्षा है.

क्योंकि लोकसभा की अपनी जीती हुई आजमगढ़ सीट उपचुनाव में गंवाने के बाद अब उनके सामने इसके सिवा कोई चारा नहीं है कि उनकी पार्टी मैनपुरी सीट जीते.

ठीक उसी प्रकार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए सपा के इस अभेद दुर्ग को ध्वस्त करने की भी चुनौती है, क्योंकि यूपी में बीजेपी के सबसे लंबे समय तक राज्य चलाने के बाद भी अगर वह मैनपुरी सीट अपनी झोली में ना डाल सके तो उनकी राजनीति पर भी सवाल उठेंगे.

यहीं वजह है कि सरकार और संगठन में मैनपुरी सीट पर हो रहे उपचुनाव में डिंपल यादव के खिलाफ कुछ माह पहले की बीजेपी में शामिल हुए इटावा से सांसद रहे चुके रघुराज शाक्य को चुनाव मैदान में उतारा.

वही दूसरी तरफ मैनपुरी के गांव -गांव में मंत्रियों, सांसद और विधायकों के चुनाव प्रचार करने जाने का कार्यक्रम तय कर दिया. यहीं नहीं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी और महामंत्री संगठन धर्मपाल सिंह भी चुनाव वाले क्षेत्रों में पहुंचना सुनिश्चित कर दिया. पार्टी के इस समूचे चुनावी अभियान पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ से नज़र रखेंगे.

पार्टी नेताओं के मुताबिक़ मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में जीत को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतिष्ठान का प्रश्न बना लिया है.

जिसके चलते ही पार्टी ने केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, बीएल वर्मा, प्रदेश सरकार की मंत्री बेबी रानी मौर्य, डॉ. असीम अरुण, राकेश सचान, गिरीश चंद्र यादव, योगेंद्र उपाध्याय, जयवीर सिंह, सांसद रमाशंकर कठेरिया, राजवीर सिंह व सुब्रत पाठक को मोर्चे पर लगाया गया है.

इनके अलावा कानपुर-बुंदेलखंड और ब्रज क्षेत्र के सभी सांसदों-विधायकों की गांव-गांव और शहरों में गली-मोहल्लों में ड्यूटी लगाई जा रही है. केंद्रीय मंत्री महेंद्रनाथ पांडेय, स्मृति ईरानी, पंकज चौधरी के साथ भाजपा की सहयोगी अपना दल से केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल, निषाद पार्टी से संजय निषाद भी मैनपुरी में प्रचार करेंगे.

यहीं नहीं बीजेपी ने मैनपुरी में फर्जी मतदान करने वाले संदिग्ध लोगों को पाबंद कराने या पुलिस से उनके खिलाफ कार्रवाई कराने की योजना बनाई है.

मतदान के दिन बूथ प्रबंधन के तहत बूथों पर फर्जी मतदान रोकने और बीजेपी समर्थक मतदाताओं को ज्यादा से ज्यादा मतदान केंद्र तक लाने की रणनीति अपनाई जाएगी. प्रदेश सरकार के मंत्री जयवीर सिंह ठाकुर कहते हैं, मैनपुरी में जसवंतनगर में सपा कार्यकर्ता फर्जी मतदान बहुत करते हैं. जसवंतनगर से ही सपा को सबसे अधिक लीड मिलती है. पूरे लोकसभा क्षेत्र में फर्जी मतदान नहीं होने दिया जाएगा.

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com