Sunday - 15 September 2019 - 7:46 PM

बिहार : आदित्य वर्मा की कोशिशें लाने लगी रंग, BCCI ने बातचीत के लिए बुलाया

स्पेशल डेस्क

पटना। बिहार में क्रिकेट को लेकर लम्बे समय से लड़ाई लड़ रहे क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा को लेकर बड़ी खबर आ रही है। बिहार क्रिकेट को बचाने के लिए लगातार बीसीसीआई से गुहार लगाने वाले आदित्य वर्मा को आखिर कार बीसीसीआई ने बातचीत के लिए मुम्बई बुलाया है।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) ने बिहार क्रिकेट के मामले को लेकर बिहार क्रिकेट के कर्ताधर्ताओं को 21 अगस्त (बुधवार) को मुंबई के बीसीसीआई ऑफिस में बुलाया है और सबों से वे अलग-अलग मुलाकात करेंगे। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा से बात करेंगे।

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार (सीएबी) के सचिव आदित्य वर्मा लगातार बिहार क्रिकेट में चल रही गड़बडिय़ों को लेकर अपनी आवाज उठा रहे हैं। उन्होंने बिहार क्रिकट एसोसिएशन (बीसीए) को तत्काल प्रभाव हटाने की मांग कर डाली है। बिहार में क्रिकेट को लेकर रार थमने का नाम नहीं ले रही है। दरअसल यहां पर क्रिकेट के नाम पर दूसरा खेला खेला जा रहा है। बीसीए में भ्रष्टाचार क्रिकेट को दीमक की तरह खा रहा है। चयन के नाम पर गोरखधंधा तो कभी महिला खिलाडिय़ों के साथ भेदभाव के किस्से लंबे अर्से से यहां की पहचान बन चुके है।

बीसीसीआई ने इस पूरे खेल में चुप्पी साध रखी थी। उधर पृूरा मामला कोर्ट भी जा पहुंचा था। अब बीसीसीआई इस मामले में एक्शन लेने के मुड में नजर आ रहा है। इस वजह से बुधवार को 2 से 3 बजे तक बिहार क्रिकेट संघ (गोपाल बोहरा और रविशंकर प्रसाद के नेतृत्व वाले) के प्रतिनिधियों से बात करेंगे। 3 से 4 बजे तक बिहार क्रिकेट संघ (जगन्नाथ सिंह और रणधीर कुमार ने नेतृत्व वाले गुट) से बातचीत करेंगे। 4 से 5 बजे तक वे सुबीर मिश्रा से बात करेंगे और 5 से 6 बजे तक क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा से बात करेंगे।

बता दें कि बिहार में क्रिकेट के नाम पर हो रहे खेल पर एक बार फिर आदित्य वर्मा ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर क्रिकेट को बचाने के लिए गुहार लगायी थी। उन्होंने बीसीसीआई के सीओ विनोद राय को पत्र लिखकर कहा थी कि बिहार में वर्ष 2019-20 के घरेलू क्रिकेट सीजन शुरू होने के पहले वर्तमान बीसीए के अयोग्य सदस्यों को निष्कासित कर बिहार में क्रिकेट चलाने के लिए तदर्थ समिति का निर्माण के लिए निवेदन किया है।

हाल के दिनों में सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति के ईमेल से बिहार क्रिकेट की राजनीतिक हलचल तेज हो गई थी। इस ईमेल में प्रशासकों की समिति ने बीसीए के दोनों गुटों से कहा था कि सक्षम न्यायालय से आदेश लेकर आयें तभी बीसीसीआई आपको मानेगी। साथ ही संविधान का रजिस्ट्रेशन भी जमा करने को कहा था। सुबीर मिश्रा ने भी बिहार क्रिकेट के वर्तमान प्रशासकों के खिलाफ बीसीसीआई में शिकायत करा रखेगी।

Dear Sirs,

The Committee of Administrators is in receipt of various representations regarding the affairs of Bihar Cricket Association which have caused serious concerns.

In view of various representations and Interlocutory Applications filed in the Hon’ble Supreme Court in Civil Appeal No. 4235 of 2014 and connected matters in this regard, the Committee of Administrators has thought it appropriate that the concerned parties be heard.

Accordingly, each of you is requested to attend and/or send an authorized representative(s) to submit your representation to the body authorized by the Committee of Administrators at BCCI Headquarters (Cricket Center, Wankhede Stadium, D Road, Churchgate- 400020) at Mumbai on Wednesday (August 21st 2019) at 12 noon.

Regards,

Thanking you.

Yours faithfully,

The Supreme Court Appointed Committee of Administrators

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा भी हमेशा बिहार क्रिकेट के वर्तमान स्थिति के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं और कई पत्र इस संबंध प्रशासकों की समिति को भेज रखी है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com