Wednesday - 8 February 2023 - 12:53 PM

इन 4 सब्जियों से रहें सतर्क, नहीं तो इस बीमारी के होंगे शिकार

जुबिली न्यूज डेस्क

सब्जियों के बिना कल्पना भी नहीं की जा सकती है. सर्दियों के मौसम में तो हरी सब्जियों की बहार आ जाती है. अधिकांश सब्जियां सर्दियों के मौसम में सस्ती हो जाती है. लोग इस मौसम में सब्जियां खाते भी ज्यादा हैं लेकिन कुछ सब्जियां ऐसी हैं जिनका सेवन बड़ी सावधानी से करना चाहिए.

क्योंकि इनमें हानिकारक कीड़ें होते हैं जिन्हें फीताकृमि भी कहा जाता है.ये कीड़ें इतने खतरनाक होते हैं कि इनका लार्वा गर्म पानी में जिंदा रह सकता है. अंत में यह खून के माध्यम से दिमाग में भी पहुंच सकता है जो कई बीमारियों को जन्म दे सकता है. आइए जानते हैं कौन से वे कीड़ें हैं जो सब्जियों में छुपे रहते हैं.

इन सब्जियों में घुसे होते हैं ये कीड़ें

फूलगोभी या बंदगोभी

कच्ची सब्जियों में टेपवर्म हो सकता है जो इंसान को संक्रमित कर सकता है. फीताकृमि के लिए सबसे मनपसंद सब्जी फूलगोभी और बंदगोभी है. ये कीड़ें बहुत छोटे होते हैं. कुछ इतने छोटे होते हैं कि इन्हें आंखों से देखा भी नहीं जा सकता है. सबसे बुरी बात यह है कि ये कीड़े खून के माध्यम से दिमाग में भी पहुंच सकते हैं जिससे वहां लार्वा जमा हो सकता है. अगर ऐसा होता है तो दिमाग सहित लिवर और मसल्स में घातक बीमारियां पनप सकती है.

बैंगन

बहुत से लोगों को बैंगन का भर्ता पसंद है लेकिन बैंगन में भी टेपवर्म यानी कीड़ा होने का जोखिम रहता है. माना जाता है कि बैंगन में जो सीड्स दिखते हैं उसमें फीताकृमि चिपके हो सकते हैं जो सीधा दिमाग में घुस सकता है. इसलिए बैंगन को अच्छे से पकाना जरूरी है.

ये भी पढ़ें-मेरा गैंग रेप हुआ है, प्राइवेट पार्ट सिगरेट से जलाया, रिपोर्ट में चौकाने वाला खुलासा

शिमला मिर्च

शिमला मिर्च जितना देखने में सुंदर होता है, उनता ही यह स्वाद में बी बेमिसाल है. शिमला मिर्च में भी टेपवर्म होने का खतरा है. शिमला मिर्च के अंदर टेपवर्म अपना लार्वा छोड़ सकता है जो सीधे खून के माध्यम से दिमाग में घुस सकता है. इसलिए शिमला मिर्च को बहुत अच्छे से पकाना चाहिए.

ये भी पढ़ें-सीके नायडू ट्रॉफी समीर की तूफानी पारी से UP ने तमिलनाडु को धोया

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com