Sunday - 25 October 2020 - 3:33 PM

नए चेहरों को मिल सकती है केजरीवाल कैबिनेट में जगह

न्‍यूज डेस्‍क

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में एक बार फिर से प्रचंड जीत हासिल करने वाले आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने जा रहें हैं। सूत्रों की माने तो 16 फरवरी को वे दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

आप को मिली प्रचंड जीत के बाद सरकार के दोबारा औपचारिक गठन की तैयारी शुरू कर दी गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज उपराज्‍याल अनिल बैजल से मुलाकात की। इसके उनके दिल्‍ली आवास पर विधायक दल की बैठक हुई। विधायक दल की बैठक में अरविंद केजरीवाल को नेता चुन लिया गया।

बैठक में मनीष सिसोदिया ने अरविंद केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाए जाने का प्रस्ताव रखा। चुनाव के प्रभारी संजय सिंह इस प्रक्रिया के प्रभारी थे, जिसके बाद विधायकों ने एकराय के साथ केजरीवाल को नेता चुना।

इसके बाद मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली में पहली बार काम की राजनीति को सम्मान मिला है। दिल्ली ने नफरत की राजनीति को नकारा और AAP को लगातार दूसरी बार बंपर जीत दिलवाई। AAP नेता बोले कि दिल्ली की जनता काम को पसंद करती है, राजनीति का विकास मॉडल सिर्फ केजरीवाल के पास है।

मनीष सिसोदिया बोले कि लोगों को सस्ती बिजली देना, पानी उपलब्ध कराना ही असली देशभक्ति है। दिल्ली के लोगों ने संदेश दे दिया है कि अरविंद केजरीवाल हमारा बेटा है, चुनाव के दौरान काफी नफरत फैलाई गई। उन्‍होंने बताया कि विधायक दल की बैठक में अरविंद केजरीवाल को नेता चुना गया है, 16 फरवरी को रामलीला मैदान में शपथ ग्रहण समारोह होगा। ये शपथ ग्रहण समारोह 10 बजे शुरू होगा।

खबरों की माने तो आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। आप की प्रचंड जीत के साथ ही नई कैबिनेट को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। नई कैबिनेट में कई नए नाम आने को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं। इसमे कई युवाओं को भी मौका मिल सकता है।

हालांकि, आप की तरफ से इस बाबत कोई बोलने को तैयार नहीं है। लेकिन माना जा रहा है कि नवनिर्वाचित विधायक राघव चड्ढा और आतिशी के मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। दोनों ही केजरीवाल सरकार में सलाहकार रह चुके हैं. लेकिन केंद्र द्वारा उनकी नियुक्ति को अवैध करार देने के बाद उन्हें उनकी पद से हटा दिया गया था. बीते साल दोनों ने लोकसभा चुनाव में भाग लिया था लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

राघव चड्ढा एक पेशे सें चार्टर्ड अकाउंटेंट और आप पार्टी के प्रवक्ता है। राघव की छवि पार्टी में एक मिलनसार और सामाजिक व्यक्ति की है. राघव ने राजिंदर नगर से 20 हजार से अधिक वोटों से जीत दर्ज की है। राघव की जीत के बाद से यह खबरें उड़ने लगी हैं कि उन्हें दिल्ली का वित्त मंत्री बनाया जा सकता है। वहीं आतिशी को शिक्षामंत्री बनाए जाने की चर्चा चल रही है।

गौरतलब है कि आप के सभी कैबिनेट मंत्री जीतने में कामयाब रहे। इनमें मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, राजेंद्र पाल गौतम शामिल हैं। आम आदमी पार्टी ने इस चुनाव में 62 सीटें अपने नाम की हैं। हालंकि, पिछली बार से 6 सीटें कम है। वहीं बीजेपी को इस चुनाव में 8 सीटें मिली हैं। कांग्रेस का पिछली बार की तरह ही इस बार भी खाता नहीं खुला और उसके करीब 67 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

आपको बता दें कि आप ने 62 सीटों पर जीत हासिल की और उसकी वोट हिस्सेदारी 53.57 प्रतिशत रही। बीजेपी को 38.51 प्रतिशत वोट मिले। कांग्रेस का खाता नहीं खुला और उसकी वोट हिस्सेदारी 4.26 प्रतिशत रही।

इस बीच आरके पुरम से चुनाव जीतीं प्रमिला टोकस का कहना है कि इस बार कैबिनेट में महिला मंत्री की एंट्री भी जरूर होगी। दूसरी ओर अंबेडकरनगर से AAP विधायक अजय दत्त ने कहा है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल अब दिल्ली को संभालेंगे, लेकिन हम चाहते हैं कि वो देश के प्रधानमंत्री बनें।

उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात के बाद अब अरविंद केजरीवाल अपने निवास पर वापस आ गए हैं। थोड़ी देर में यहां पर ही विधायकों के साथ बैठक शुरू होगी, जिसमें उन्हें विधायक दल का नेता चुना जाएगा।

English

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com