Sunday - 15 December 2019 - 1:17 AM

बिना हाजिरी चलती थी ड्यूटी, अब ड्यूटी में अपनायी जाएगी नई तकनीक

धीरेन्द्र अस्थाना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के होमगार्ड विभाग में आये दिन नये- नये कारनामे सामने आ रहे है, लेकिन वो राज से पर्दा नहीं उठा है जो फाइलो में अब भी कैद है। जुबिली पोस्ट ने पहले भी अपने वीडियो के माध्यम से ये बताया था कि कैसे लखनऊ में ही इस जिला कमांडेंट कृपा शंकर पांडे ने कैसे- कैसे कारनामे किये हुए है, जिसे आज लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

वीडियो में देखे पूरा मामला

‘उत्तर प्रदेश होमगार्ड एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष रामेन्द्र कुमार यादव’ ने विशेष बातचीत में ये भी बताया कि कमांडेंट कृपा शंकर पांडे ने जो घोटाले किये वो तो एक तरफ उसने तो विभाग की राइफल तक चोरी करवाई है। यही नहीं जिन्होंने पूरी बेबाकी के साथ जुबिली पोस्ट से वो सारे साक्ष्य साक्षा किये है, जिनसे यूपी होमगार्ड विभाग का पर्दाफाश हो चुका है।

ये भी पढ़े: होमगार्ड विभाग का काला सच, वीडियो में जाने पूरी दास्तां

गौतमबुद्धनगर और लखनऊ में होमगार्ड की ड्यूटी लगाने में हुए घपले का दायरा काफी बढ़ गया है। पूरे प्रदेश में होमगार्ड की ड्यूटी का सत्यापन कराया जा रहा है। जिला कमांडेंट और मंडलीय कमांडेंट को एक सप्ताह में सत्यापन की कार्रवाई पूरी करने के निर्देश दिए गए हैं।

तब तक के लिए अक्तूबर तक की ड्यूटी का भुगतान रोक दिया गया है। प्रमुख सचिव होमगार्ड अनिल कुमार की माने तो अभी तक होमगार्ड की ड्यूटी का रिकार्ड केवल जिला कमांडेंट के पास ही होता था। अब ऐसी व्यवस्था की जा रही है ताकि थाने स्तर पर भी इसका रिकार्ड रखा जा सके।

ये भी पढ़े: होमगार्ड वेतन घोटाले का मास्टरमाइंड लखनऊ से गिरफ्तार

ड्यूटी करने वाले होमगार्डों की थानों की जीडी में ड्यूटी के पहले दिन एंट्री दर्ज होती थी, उसके बाद कब तक ड्यूटी की और कहां- कहां ड्यूटी की इसका कोई रिकार्ड नहीं होता था। इतना ही नहीं मास्टर रोल पर ड्यूटी लेने वाले जिम्मेदार पुलिस अधिकारी का न तो स्पष्ट नाम होता था और न ही स्पष्ट हस्ताक्षर।

ऐसे में अब अक्तूबर में ड्यूटी वाले स्थानों पर मास्टर रोल दोबारा भेजकर ड्यूटी प्रभारियों से सत्यापित कराया जाएगा और दोबारा उनके स्पष्ट पद और नाम के साथ मुहर लगवाई जाएगी। मास्टर रोल की एक प्रति ड्यूटी स्थल (संबंधित थाने) पर भी रखी जाएगी, ताकि सही और गलत ड्यूटी पता चल सके।

ये भी पढ़े: होमगार्ड वेतन घोटाले में डिवीजन कमांडेंट समेत पांच गिरफ्तार

खातों का भी होगा सत्यापन

अनिल कुमार कि माने तो ऐसी भी शिकायत मिली है कि होमगार्डों के खातों का नंबर बदलकर भी आरटीजीएस के माध्यम से पैसे ले लिए गए हैं। ऐसे में खातों को भी सत्यापित कराया जाएगा। इसके लिए सभी होमगार्डों से पासबुक के प्रथम पेज की प्रति और कैंसिल चेक मांगा गया है।

जांच के बाद होगा एरियर का भुगतान

अनिल कुमार ने बताया कि न्यायालय के निर्देश पर सरकार को 6 दिसंबर 2016 से अब तक के एरियर का भी भुगतान करना है। उससे पहले एक- एक ड्यूटी का सत्यापित कराया जा रहा है। इसके बाद जब भी बजट आएगा उसी के अनुसार भुगतान किया जा सकेगा।

ये भी पढ़े: होमगार्डों की तैनाती और वेतन में बड़ा खेल, क्या घोटाले की खुलेगी पोल!

लोकेशन बेस्ड अटेंडेंस पर किया जा रहा विचार

सिस्टम की खामियों को दूर करने के लिए लोकेशन बेस्ड अटेंडेंस पर विचार किया जा रहा है। इसके लिए मोबाइल एप, बायोमेट्रिक अटेंडेंस, आधार बेस्ड अटेंडेंस या अन्य किसी विकल्प पर विचार किया जा रहा है। अगले दो- तीन माह में यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

गिरफ्तार होमगार्ड अधिकारियों का निलंबन तय

गौतमबुद्घनगर में हुए होमगार्ड ड्यूटी घोटाले में शामिल होमगार्ड अधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद उनका निलंबन तय हो गया है। बुधवार को इससे संबंधित पत्रावली मुख्यमंत्री के यहां भेजी जा चुकी है। सूत्रों का कहना है कि बहुत जल्द ही मुख्यमंत्री स्तर से इस पर निर्णय हो जाएगा और निलंबन व विभागीय कार्रवाई का आदेश जारी कर दिया जाएगा।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com